Breaking News

एडीजी आफिस पर पट्टाधारक बैठे अनशन पर पीड़ितो ने जिलाधिकारी से लगाई गुहार डीएम ने लिया संज्ञान मामले को एसडीएम को सौंपा

एडीजी आफिस पर पट्टाधारक बैठे अनशन पर

पीड़ितो ने जिलाधिकारी से लगाई गुहार डीएम ने लिया संज्ञान मामले को एसडीएम को सौंपा

प्रयागराज 25 अप्रैल 2022, थाना करछना के अन्तर्गत मौजा खाई के एक दर्जन से अधिक दलित परिवार अपर पुलिस महानिदेशक जोन प्रयागराज के कार्यालय के समक्ष सोमवार को सुबह 10 बजे से अपनी मांगों के समर्थन में आमरण अनशन शुरू कर दिया। सूचना मिलते ही मौके पर क्षेत्राधिकारी सिविल लाइन उनके प्रार्थना पत्र लेकर जिलाधिकारी के यहां अपनी बात रखने को कहा।

गौरतलब है कि मौजा खाई की आराजी संख्या 1226 रकबा 0.3150 हेक्टे. पीड़ित परिवार के आठ लोगो को भूमि प्रबन्ध समिति द्वारा 2005 में कृषि कार्य हेतु पट्टा आवण्टित किया गया था। अनशन पर बैठे जीवनलाल व अन्य पट्टाधारियों का कहना है कि 02 नवम्बर 2021 को गांव के ही सामंतो द्वारा पट्टे की जमीन पर जबरन जोताई बोवाई करने लगे विरोध करने पर दबंगो द्वारा अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए प्रार्थीगणो को जातीय आधार पर जान से मारने की धमकी का आरोप लगाया। पीड़ित जीवनलाल का कहना है कि तब से लगातार पट्टे की जमीन पर हुए अबैध कब्जे को हटाने की मांग की जाती रही परन्तु कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। हल्का लेखपाल सुनील कुमार ने बताया कि मौजा खाई की आराजी संख्या 1226 परती है अभिलेखों का परीक्षण करने पर ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी। एडीजी आफिस पर चल रहे अनशन कर रहे पीड़ितों को पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के समझाने पर अनशनकारी जिलाधिकारी से मिले और प्रत्यावेदन देते हुये गुहार लगाई। मिली जानकारी के अनुसार जिलाधिकारी ने प्रकरण को संज्ञान में लेते हुये एसडीएम करछना को समुचित कार्यवाही के लिए संदर्भित कर दिया। देखना यह होगा कि इन दलितों को न्याय कब मिलता है।

जिलाधिकारी से मिलने वालो में जीवन लाल, प्रेमशंकर, अमृतलाल, सुरजन, राममनी, रामशंकर, लालबाबू, राजमणि, गुलाबकाली, सावित्री देवी, रामप्यारे, ननकई, दिब्या आदि उपस्थित रहे।